हम रोज़ाना 8,000-10,000 ग्राहक की सेवा करते हैं - अमरिक सिंह

Short Description
मुरथल में अमरिक सुखदेव ढाबा की स्थापना 1956 में सरदार प्रकाश सिंह ने मुख्य रूप से ट्रक चालकों की खाद्य जरूरतों को पूरा करने के लिए की थी। अपने पुत्रों में से एक, धाबा के पार्टनर अमरिक सिंह, ढाबा के विकास के बारे में कहते हैं।
  • Nusra Deputy Features Editor
Restaurant India

अमरिक सुखदेव ढाबा एक 'ट्रक चालकों के खाने की जगह' से कैसे 'सबका ढाबा' में बदल गया?

यह 90 के दशक की बात है, जब हम दोनों भाई सुखदेव सिंह और मैंने ढाबा के प्रभारी पद संभाले और यात्रियों के लिए जगह बनाने के लिए इसमें निवेश किया। दाल रोटी, सब्जी और चावल के सरल भारतीय पारंपरिक खाने के साथ शुरू किये गए इस भोजनालय ने अब बढ़ते ग्राहक की माँग को पूरा करने के लिए उत्तर भारतीय और दक्षिण भारतीय व्यंजनों को भी जोड़ा है।

हमने इसे 2000 में एक नई इमारत में स्थानांतरित करके एक आधुनिक रूप दिया। इसके बाद हमने पंजाब और हिमाचल, दूर तक जाने वाले ग्राहक मिलना भी शुरू हो गए और आज, हमारे पास प्रतिदिन लगभग 8,000-10,000 ग्राहक आते हैं और सप्ताहांत के दौरान यह संख्या 12,000-13,000 तक जाती है।

आपका वर्तमान रेवन्यू कितना है और अगले कुछ वर्षों में आप किस नंबर को लक्षित कर रहे है?

जब से हमने शुरू किया, हम 3-4 फीसदी मासिक दर से बढ़ रहे हैं। हमने अपनी स्थापना के बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। वर्तमान में, हमारे पास मासिक रूप से 3-4 करोड़ रुपये का रेवेन्यू है।

मेनू में वर्तमान में क्या शामिल है? मूल्य सीमा क्या है?

हमारे मेनू में स्ट्रीट फ़ूड के दाम पर उत्तर भारतीय, दक्षिण भारतीय, चाइनीस, कॉन्टिनेंटल है और हमने इसे डिजाइन करते समय मध्यम वर्ग के ग्राहकों को ध्यान में रखा है। हमने हमारे मेनू में केवल 50 रुपये में मक्खनवाले पराठे के साथ पूरक सलाद, अचार और रायता पेश किया है।

आप बाजार में अपने प्रतिद्वंद्वी के रूप में किसे देखते हैं?

हमने हमेशा अपने काम में विश्वास किया है- ग्राहक को सर्वश्रेष्ठ प्रदान करना। हम स्वच्छता और प्रामाणिकता के साथ, गुणवत्ता के सर्वोत्तम भोजन की सेवा करके बढ़ने में विश्वास करते हैं। हालांकि, हम हल्दीराम और बीकानेरवाला जैसे ब्रांडों का टेस्ट चखने पर भी ध्यान देते हैं, ताकि यह देख सकें कि वे अपने मेनू में कैसे बदलाव कर रहे हैं।

आपके रेस्तरां में कितने लोगो के बैठने की क्षमता है? आपके नियमित ग्राहक कौन हैं?

हमारे पास लगभग 500-600 ग्राहकों की बैठने की क्षमता है। एनआरआई, दिल्ली-एनसीआर और पंजाब के राजमार्गों के यात्री और स्थानीय लोग हमारे यहां दोपहर के भोजन और रात के खाने के लिए नियमित आते हैं।

1956 से आज तक अपने भोजन की प्रामाणिकता कैसे बनाए रखी है?

हम कभी भी खाने की गुणवत्ता पर समझौता नहीं करते हैं। सुखदेव और मैं इस जगह के हर एक ऑपरेशन की देखभाल के लिए यहां ढाबा में ही बैठते हैं। हम अपने द्वारा तैयार भोजन की जांच करते हैं। हम कभी भी शेफ या कुक पर भरोसा नहीं करते हैं। यहां तक ​​कि मेरा बेटा सूरज सिंह, जो एस्टन विश्वविद्यालय, ब्रिटेन से एमएससी है, हमारे साथ शामिल हो गया है और व्यापार को आगे बढ़ाने में हमारी सहायता कर रहा है।

जैसा कि आप मूरथल में भोजन की सेवा के लिए जाने जाते हैं, इस व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए आपकी विस्तार योजना क्या है?

हमने हमारे बीच आंतरिक रूप से चर्चा शुरू की है। हम स्थान, मूल्य निर्धारण, मेनू और लक्ष्य समूह जैसे कारकों को देख रहे हैं और एक बार हम ये सब ठीक से देख लेंगे, हम अन्य बाजारों में प्रवेश कर सकते हैं।

आपके ढाबा में कर्मचारियों की संख्या क्या है?

1956 में कुछ ही सदस्य से, आज हमारे पास लगभग 300 श्रमिक हैं।

Not Sponsored
Home Title
हम रोज़ाना 8,000-10,000 ग्राहक की सेवा करते हैं - अमरिक सिंह
अभी पढ़ रहे लोग

वॉव! मोमो ने 2 साल में 60 आउटलेट खोलने के लिए आईएएन से 10 करोड़ रुपये जुटाए हैं।

1Min Read

रेस्टोरेंट शुरू करना चाहते हैं ? यहां विभिन्न लाइसेंस की आवश्यकताओं की बारे में वो सारी बातें हैं, जो आपको मालूम होनी चाहिए 

1Min Read
आपके लिए अनुशंसित